जांच प्रतिवेदन बनने में लगा साल भर का समय, कार्यवाही में भी विलंब

0

गोबरसिंहा बरमकेला : मामला जनपद पंचायत बरमकेला के ग्राम पंचायत मारोदरहा का है।जहाँ के सचिव के ऊपर विभागीय जांच मामले में लगभग साल भर का समय लग गया है।जांच के बाद अब कार्यवाही में भी विलंब किया जा रहा है।ग्राम पंचायत मारोदरहा की ग्रामीणों के द्वारा शौचालय निर्माण,पचरी-पुलिया, वृक्षारोपण और नवीन ग्राम पंचायत भवन के सम्बंध में शिकायत बार बार अधिकारियों से की जा चुकी है।मारोदरहा सरपंच के ऊपर शौचालय मामले में धारा 40 की कार्यवाही और सचिव के पचरी-पुलिया के संबंध में विभागीय जांच के आदेश भी दिया जा चुका है।लेकिन बाकी मामले जैसे वृक्षारोपण, नवीन ग्राम पंचायत भवन, जैसे मामलों के शिकायतों को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया।लगातार शिकायत के बाद जांच तो हुई बस मात्र खानापूर्ति के लिए,शौचालय मामले में दोषी तो बनाकर धारा 40 की कार्यवाही तो हो गयी लेकिन उन आधा अधूरे शौचालय का क्या होगा जो अभी भी अधूरा है और उनका भुगतान हो गया है।और वही पचरी को तोड़कर नया बनाने का आदेश है लेकिन आज तक नही टूटा न बना है।और वही लाखों का पुलिया निर्माण भी मनमानी का भेंट चढ़ चुका है।उनमे भी खामियां पाई गयी।लगातार शिकायत के बाद कागजों में कार्यवाही की गई।लगातार शिकायत के बाद भी कार्यवाही न होने से अधिकारियों और सरपंच सचिव के मिलीभगत को भी नही नकारा जा सकता है।मामलों की शिकायत मुख्यमंत्री जनदर्शन, कलेक्टर जनदर्शन, जिला पंचायत सीईओ,जनपद सीईओ और संबंधित अधिकारियों से की जा चुकी है।

जांच फाइल आ चुकी है।सामान्य प्रशासन समिति में अनुमोदन के लिए रखा गया है। अनुमोदित पश्चात आगे की कार्यवाही की जाएगी।

चन्दन त्रिपाठी जिला पंचायत सीईओ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here