बरमकेला-सारंगढ़ में यूरिया की किल्लत से किसान परेशान !

0

Sarangarh Raigarh Jile  Ki Taza Khabar 

साहूकारों से अधिक दामों में खाद ले रहे किसान–

सारंगढ़ : अच्छी बारिश के साथ अब खेती किसानी में तेजी आ रही है लेकिन किसान बियासी एवं धान रोपाई में यूरिया खाद की किल्लत झेल रहें हैं सहकारी समितियों में मांग के अनिरूप अब तक खाद नहीं पहुंची है | मिली जानकारी के मुताबिक सारंगढ़ में कनकबीरा , अमझार नौरंगपुर , भेड़ वन , कोतरी , छिंद , गाताडीह , दानसरा , केड़ार , गुड़ेली , उलखर जबकि बरमकेला विकासखंड के बरमकेला तौसीर , लेंध्रा , नावापारा , देवगांव , सरिया , बोन्दा , साल्हेओना , डोंगरी पाली , गोबरसिन्हा , लुकापारा सहकारी समितियों में अब तक मांग के अनुरूप किसानो के लिए यूरिया खाद का भंडारण नहीं किया गया था | इस सम्बन्ध में अधिकांश समिति प्रबंधकों से जानकारी ली गई तो सभी ने यूरिया कमी बताते हुए मांग पत्र भेजे जाने कि बात कहीं | वहीँ अब तक समितियों में भंडारण नहीं होने के सवाल पर ट्रांसपोर्टर की लापरवाही से उक्त समस्या निर्मित होना बताया जो चंद्रपुर के जर्जर होने एवं भारी वाहनों पर प्रतिबन्ध का बहाना बनाकर सहकारी समितियों में यूरिया का परिवहन करने से बचते हुए नजर आ रहें है जबकि रायगढ़ पुसौर सरिया से बरमकेला होते हुए सारंगढ़ तक नियमित भारी वाहन चल रहें है | ऐसे में ट्रांसपोर्टर एवं विभाग के अधिकारीयों द्वारा स्थानीय व्यापारियों को लाभ पहुँचाने सोची समझी रणनीति के तहत यूरिया खाद को कृत्रिम आभाव पैदा किया जाना साफ दिखाई पड़ रहा है | वहीँ किसान कई दिनों तक समितियों का चक्कर काट रहें हैं किन्तु यूरिया खाद सहकारी समिति से नहीं मिल रहीं है तो मजबूर होकर दुकानों से अधिक दर में खरीद कर उपयोग कर रहें हैं ज्ञातव्य है कि सारंगढ़ विकास खंड में 12 एवं बरमकेला में 11 सहकारी समिति है जहां अधिकांश में खाद कि समस्या से किसान परेशान हो रोज-रोज चक्कर काट रहें है | इस संबंध में भाजपा नेता एवं किसान यूनियन के प्रदेश महामंत्री पुनितराम  चौहान एवं मीडीया प्रतिनिधि रूपेश पटेल ने कांग्रेस सर्कार को आड़े हाथ लेते हुए व्यापारियों से कमीशनखोरी करने नेताओं द्वारा कृत्रिम आभाव पैदा करने का आरोप लगाया है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here