नापतौल निरीक्षक ने सत्यापन तो किया, लेकिन नहीं दिया प्रमाण पत्र

0

Today News In Baramkela 

बरमकेला, तमनार : नापतौल निरीक्षक ओलिभा किस्पोट्टा ने कंचन पुर स्थित कमला  पेट्रोल पंप का सत्यापन करने के बाद भी प्रमाण पत्र नहीं दिया | सत्यापन के लिए पेट्रोल पंप संचालक की ओर से पूरी राशी चालान के रूप में जमा कर दिया गया है | इसके बाद भी डेढ़ साल से घुमाया जा रहा है | पंप संचालक ने शिकायत कि तो जांच में इसका खुलासा हुआ |

दरअसल नापतौल निरीक्षक ओलिभा किस्पोट्टा अपने सहयोगी श्रम सहायक सफ़ेद सिदार के साथ बरमकेला ब्लॉक के कंचनपुर स्थित कमला पेट्रोल पंप में बीते 23 जून 2018 को जांच की गई थी | इस दौरान जो फ़ीस थी उसे लिया गया और चालान के रूप में जमा किया | इसके बाद सत्यापन कर सील की गई | खास बात यह है कि सत्यापन करने के बाद पंप संचालक को निरीक्षक ने वेरिफिकेशन सर्टिफिकेट नहीं दिया | जबकि उनकी टीम में शामिल मिडको डिस्पेसिंग यूनिट के कैलिब्रेशन के बाद रिपोर्ट की एक प्रति संचालक को दिया गया | श्रम सहायक सफ़ेद सिदार ने केलिब्रेशन के बाद डिस्पेसिंग यूनिट्स का दोबारा सत्यापन किया और सील कर दिया | इस दौरान ओलिभा किस्पोट्टा ने बाद में वेरिफिकेशन सर्टिफिकेट देने की बात कहीं | लेकिन डेढ़ साल तक घुमा दिया |

तमनार में भी ऐसे ही की गई गड़बड़ी–

एचपीसीएल रिटेल आउटलेट तमनार फिलिंग में भी नापतौल निरीक्षक ओलिभा किस्पोट्टा द्वारा ऐसे ही गड़बड़ी कि गई थी | यहां भी सत्यापन किया गया और प्रमाण पत्र बाद में देने की बात तो कहीं गई लेकिन दिया नहीं गया | इसकी भी शिकायत हुई है |

 अवकाश में करा दिया सत्यापन–

बताया जा रहा है कि बीते 4 फरवरी को गोढ़ी तमनार स्थित तमनार फिलिंग स्टेशन में डीयू कैलिब्रेशन के लिए सर्विस इंजिनियर प्रकाश बंजारे और श्रम सहायक सफ़ेद सिदार पहुंचे थे | डीयू के कैलिब्रेशन के बाद श्री बंजारे ने रिपोर्ट दे दिया | इसके बाद श्रम सहायक सफ़ेद ने सील कर दिया | लेकिन सर्टिफिकेट ओलिभा किस्पोट्टा मेडम देने की बात कहीं गई | बाद में पंप संचालक ने निरीक्षक ओलिभा किस्पोट्टा से कई बार संपर्क किया गया लेकिन अब तक यह प्रमाण पत्र नहीं दी गई है | खास बात यह है कि वह इस दौरान अवकाश पर थी | इसके बाद भी सत्यापन करा दी गई | इसकी भी शिकायत की गई तो जांच हुआ और यह गड़बड़ी सामने आई |

समझ नहीं आ रहा मामला–

पंप संचालकों द्वारा बार-बार सत्यापन प्रमाण पत्र मांगा जा रहा है , लेकिन नहीं दी जा रहीं है | पंप संचालक भी इस मामले को समझ नहीं पा रहे हैं | इसके कारण दोनों संचालकों द्वारा शिकायत की गई है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here